Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi

Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi: Hello everyone today we are going to write an essay on Beti Bacho Beti Padhao in Hindi. This essay will start from the next heading. This essay is free to use for everyone, you can copy it, read it or download it in the form of PDF format given below.

In this essay we will focus on ‘Beti Bacho Beti Padhao Essay in Hindi’ this will contain different section with sub-headings. You can read full Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi down below. In UP Sarkari Naukri we have many different essays.

बेटी बचाओ बेटी पढाओ पर निबंध (Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi)

बेटी बचाओ बेटी पढाओ भारत सरकार द्वारा की गई सबसे बड़ी पहलों में से एक है। इस अभियान का मुख्य लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि प्रत्येक बालिका को उचित शिक्षा मिले। यह भी एक कारण है कि लोग दूसरों के साथ-साथ अपने परिवारों को भी वैसा ही करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं जैसा कि धारणा बताती है।

यह अभियान हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्ष 2015 में शुरू किया गया था। हालांकि, इसकी शुरुआत के बाद, कई संस्थानों को अपने स्वयं के समझौते से इसे आगे बढ़ाने के लिए वित्त पोषित किया गया था। इसकी मुख्य बात लोगों में जागरूकता थी। हो सकता है कि ऐसे विज्ञापन हों जिनके बारे में बहुतों को जानकारी हो। फिर, स्कूलों जैसे संस्थानों के बीच कई तरह से प्रचारित किया गया।

ऐसा ही एक तरीका है छात्रों को अंग्रेजी में निबंध के लिए तैयार करना। एक बार जब छात्र स्वयं उनकी तैयारी कर रहे होते हैं तो विषय में और अधिक जागरूकता बढ़ने की संभावना होती है। ये अभ्यास न केवल छात्रों को इन विषयों के बारे में ज्ञान देने में सहायक होते हैं बल्कि यह भी देखते हैं कि वे स्कूल में अन्य विद्यार्थियों के लिए भी जागरूकता बढ़ाते हैं।

निबंध लोगों तक पहुंचने का एक तरीका है, खासकर आज के युवाओं तक। साथ ही, ऐसी चीजों का किसी को भी और इसे पढ़ने वाले सभी लोगों को प्रभावित करने का एक तरीका होता है। इसलिए, भले ही केवल एक व्यक्ति एक छात्र द्वारा लिखे गए निबंध के अनुसार करने का फैसला करता है, या यदि यह निबंध पढ़ने वाले एक व्यक्ति को भी मिलता है, तो इस बात की काफी संभावना है कि पहल सफल रही है।

आप वेदांतु द्वारा आपको प्रदान किए गए निबंध पर एक नज़र डाल सकते हैं और अपने स्वयं के एक अच्छी तरह से संशोधित संस्करण के साथ जा सकते हैं।

बेटी बचाओ बेटी पढाओ का उद्घाटन 22 जनवरी 2015 को हमारे माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। यह एक राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त अभियान था। भारत सरकार ने बालिका जागरूकता को बढ़ावा देने के साथ-साथ कल्याणकारी योजनाओं में सुधार के लिए अभियान चलाया। बेटी बचाओ बेटी पढाओ लोकप्रिय कल्याणकारी योजनाओं में से एक है। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का अर्थ है- बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ। हरियाणा वह राज्य है जहां उन्होंने यह परियोजना शुरू की थी। इसका कारण इस राज्य में महिलाओं का सबसे कम लिंगानुपात है।

उद्देश्य (Objective)

लिंग भेद को रोकना और कन्या भ्रूण हत्या की प्रथा को समाप्त करना इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य है। यह सभी बालिकाओं की सुरक्षा और सुरक्षा की गारंटी के लिए शुरू किया गया था। यह योजना उचित और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए तैयार की गई है। योजना में तीन मंत्रिस्तरीय बोर्ड शामिल हैं:

  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • महिला एवं बाल विकास मंत्रालय
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के कारण क्या हैं?

इस योजना में दो मुख्य कारण शामिल हैं। ये:

महिलाओं के खिलाफ अपराध के खिलाफ बढ़ना

हमारे समाज में, अभी भी बड़ी संख्या में निरक्षर हैं जो सोचते हैं कि एक लड़की का होना परिवार के लिए एक बोझ जैसा लगता है क्योंकि वे बदले में कुछ भी योगदान नहीं देते हैं। गर्भपात के बहुत से मामलों और लड़कियों के खिलाफ विभिन्न प्रकार के भेदभाव के मामलों के परिणामस्वरूप महिला आबादी में गिरावट आई है। इसके साथ ही अपराध और यौन शोषण लगातार बढ़ रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए ऐसी कुरीतियों और अमरता को रोकने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना शुरू की गई है।

निम्न लिंग अनुपात

2001 में डेटा (सीएसआर) के अनुसार, 0 से 6 साल तक प्रति हजार लड़कों पर 933 लड़कियां थीं। वर्ष 2011 में यह संख्या घटकर प्रति हजार लड़कों पर लगभग 918 लड़कियां रह गई। 2012 में, यूनिसेफ द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के अनुसार, 195 देशों में भारत 41वें स्थान पर था। 2016 के बाद शुरू की गई जनसंख्या जनगणना से पता चलता है कि जनसंख्या अनुपात में वृद्धि हुई है, और संतुलन को बहुत प्रयास के साथ बनाए रखा गया है।

प्राथमिक ऑब्जेक्ट (Primary Objective)

इस योजना का उद्देश्य देश भर में बालिकाओं की सुरक्षा और उचित शिक्षा और सुरक्षा की व्यवस्था करना है। यह योजना देश के कोने-कोने से कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करते हुए पेशेवर और व्यक्तिगत विकास की सहायता में मदद करती है। तीन मुख्य उद्देश्य हैं:

  • देश की हर लड़की सुरक्षित है, यह सुनिश्चित करने के लिए सहयोग में काम करना और नई योजनाओं का विकास करना।
  • कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम।
  • शिक्षा का अधिकार देश में प्रत्येक बालिका को प्राप्त होता है।

योजना को लागू करते समय किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है?

हमारे प्रधान मंत्री द्वारा शुरू की गई योजना में आ सकती है दिक्कत, इन अवधारणाओं को ठीक से समाप्त कर दिया गया है:

  • कन्या भ्रूण हत्या और अन्य घरेलू शोषण, सामाजिक शोषण, बाल विवाह, सती आदि जैसे रूढ़िवादी अनुष्ठान।
  • पुलिस और व्यवस्था अभी तक महिला हिंसा की मात्रा को गंभीरता से निर्धारित नहीं कर पाई है।
  • जागरूकता फैलाने के लिए जिम्मेदार कई अभियानों के बावजूद लोगों की मानसिकता रूढ़िवादी बनी हुई है।
  • कार्यान्वयन लाइन में एक बड़ी बाधा दहेज प्रथा है।

प्रभाव (The Impact)

इस योजना का मिशन महत्वपूर्ण प्रभाव लाना है जिसमें शामिल हैं:

  • सभी बालिकाओं की शिक्षा तक पहुंच।
  • बालिकाओं के अधिकार के फोकस पर प्रकाश डालना।
  • नर-नारी के अनुपात को संतुलित करना।

इस योजना की शुरुआत लिंग भेदभाव के साथ-साथ अन्य असंतुलन को कम करने का एक आदर्श उदाहरण है। इसके अलावा, यह लड़कियों को सामाजिक और वित्तीय स्वतंत्रता प्रदान करने में भी सहायक है।

Join our Facebook Group
Follow us on Instagram
Download NCERT Maths Solutions App from Class 6 to 12

Join our Community Group to Get Regular Updates and Info!

अपडेट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ें👇👇

Current Affairs Telegram Channel - SMEDUCATION

Download Essay in PDF Format

Not only read or copy you can also download the essay in PDF format from the link given below. If you liked the essay please share it with your friends. This was our Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi, thanks for reading.

Click here to Download Essay

Read more:

Share with your Friend:

Leave a Reply

Your email address will not be published.